-->
HANUAMAN AARTI HINDI LYRICS

HANUAMAN AARTI HINDI LYRICS

HANUAMAN AARTI HINDI LYRICS

HANUMAN AARTI HINDI LYRICS 


SHREE HANUMAN AARTI LYRICS IN HINDI IS WRITTEN BY SHREE TULSIDAS JI IN AWADHI LANGUAGE IN SHREE RAMCHARITMANAS.SHREE HANUMAN AARTI LYRICS IN HINDI IS SUNG BY ANUP JALOTA AND MUSIC COMPOSED BY SANJAYRAJ GAURIINANDAN.

HANUMAN AARTI INFO:-
ALBUM:-SHREE RAM BHAKT HANUMAN CHALISA
SONG:- AARTI KIJE HANUMAN LALA KI
SINGER:-ANUP JALOTA
LYRICS:-TRADITIONAL
MUSIC:-SANJAYRAJ GAURIINANDAN
MUSIC LABEL:-TIMES MUSIC INDIA

HANUMAN AARTI HINDI LYRICS:-

आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की

जाके बल से गिरिवर कांपे
रोग दोष जाके निकट न झांके

अंजनि पुत्र महा बलदाई
सन्तन के प्रभु सदा सहाई

आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की

दे बीरा रघुनाथ पठाए
लंका जायी सिया सुधि लाए

लंका सो कोट समुद्र सीखाई
जात पवनसुत बार न लाई

आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की

लंका जारि असुर संहारे
सियारामजी के काज सवारे

लक्ष्मण मूर्छित पड़े सकारे
आनि संजीवन प्राण उबारे

आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की

पैठि पाताल तोरि जम कारे
अहिरावण की भुजा उखारे

बाएं भुजा असुरदल मारे
दाहिने भुजा संत जन तारे

आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की

सुर नर मुनि आरती उतारें
जय जय जय हनुमान उचारें

कंचन थार कपूर लौ छाई
आरती करत अंजनी माई

आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की

जो हनुमानजी की आरती गावे
बसि बैकुण्ठ परम पद पावे

लंक बिध्वंश किन्ही रघुराई
तुलसी दस स्वामी आरती गाई

आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की

आरती कीजै हनुमान लला की



HANUAMAN AARTI MUSIC VIDEO:-

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel